जानिए नियमित साइकिल चलाने से शरीर को होने वाले लाभ

237
cycling-benefits
image credits: macsadventure.com

फिट और सेहतमंद रहने के लिए हमें शारीरिक रूप से सक्रीय रहने की ज़रूरत होती है। नियमित शारीरिक व्यायाम आपको मोटापे, ह्रदय रोग, कैंसर, मानसिक रोग, आर्थराइटिस, मधुमेह आदि गंभीर बीमारियों से बचा सकता है। अपनी साइकिल को रोजाना चलाना भी आपको ये सभी लाभ दे सकता है तथा आपकी शिथिल दिनचर्या के दुष्प्रभावों को कम कर सकता है।

 

आइये जानते रोजाना आपके साइकिल का आधा घंटा उपयोग आपको किन रोगों से बचा सकता है-

 

मोटापा 

साइकिलिंग अपना वजन कम करना का एक अच्छा तरीका है। यह आपका मेटाबोलिज्म तेज़ करता है तथा शरीर की वसा जलाता है। अगर आप वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो नियमित साइकिलिंग के साथ स्वास्थ्यवर्धक आहार शैली को अपनाएं।

यह व्यायाम हर व्यक्ति के लिए उपयुक्त है; साइकिलिंग की गति को कम या ज्यादा कर आप अपने जोड़ों पर पड़ रहे दबाव को कम कर सकते हैं या तेज़ कर कम समय में ज्यादा कैलोरीज का उपयोग कर सकते हैं। एक ब्रिटिश शोध के अनुसार रोजाना आधा घंटा साइकिल चलाने से आप साल में पांच किलो तक वजन कम कर सकते हैं।

एरोबिक एक्सरसाईज के तौर पर अपनाएं डांसिग को

ह्रदय रोग 

ह्रदय स्ट्रोक, रक्त चाप व् हार्ट अटैक का शिकार हो सकता है। नियमित साइकिलिंग से आपके शरीर में रक्त तेज़ी से दौड़ता है, दिल की मांसपेशियों की कसरत होती है, फेफड़े पूरी तरह काम करने लगते हैं तथा रक्त प्रवाह बेहतर होने से ह्रदय रोग का खतरा कम हो जाता है।

 

कैंसर 

कई शोधकर्ताओं ने पाया की व्यायाम और कैंसर के जन्म के बीच सम्बंध है, खासकर जब बात आँतों और स्तनों के कैंसर की हो। शोध दिखाते हैं की अगर आप साइकिल चलाते हैं तो आपको पाचन क्रिया के अंगों के कैंसर का खतरा कम हो जाता है। इस बात के भी प्रमाण है की साइकिलिंग से स्तन कैंसर की आशंका कम की जा सकती है।

 

मधुमेह 

टाइप 2 मधुमेह के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं जो की चिंता का विषय है। शारीरिक व्यायाम की कमी इस रोग की बड़ी वजह बताई जाती है। यही वजह है की फ़िनलैंड में हुए एक शोध में पाया गया की अगर आप रोजाना 30 मिनट साइकिलिंग करते हैं तो आपको मधुमेह होने की आशंका 40 प्रतिशत कम हो जाती है।

भारतीय नृत्य शैली जो आपको फिट रहने में करेगी मदद

हड्डी व् जोड़ों का दर्द 

साइकिल चलाने से आपकी ताकत, संतुलन और सामंजस्य बेहतर होता है। इन लाभों से आपको चोट लगने का खतरा कम हो जाता है तथा फ्रैक्चर की आशंका भी कम होती है। साइकिलिंग एक ऐसा व्यायाम है जो ओस्टोआर्थराइटिस के उपचार में सुझाया भी जाता है क्यूंकि यह मांसपेशियों को मजबूत करता है पर जोड़ों पर दबाव नहीं बनाता।

 

मानसिक रोग 

अवसाद, तनाव, डिप्रेशन, हाइपरटेंशन व् एंग्जायटी जैसे मानसिक रोगों में साइकिलिंग से बड़ी राहत पाई जा सकती है। इसकी वजह सिर्फ एक व्यायाम के रूप में इसके लाभ ही नहीं है बल्कि साइकिल चलाने का आनंद भी है। कई बार लो सेल्फ एस्टीम व् आत्मविश्वास की कमी भी इन रोगों का कारण बनती है। साइकिलिंग करने पर व्यक्ति अपने गुणों पर भरोसा करना सीखता है जिससे आत्म विश्वास भी बढ़ता है।

लीजिए बिपाशा बासु से ऐरोबिक एक्सरसाइज़ के मंत्र

तैराकी है एक बेहतरीन ऐरोबिक व्यायाम, जानिए इसके फायदे

रस्सी कूदना क्यों है सेलिब्रिटीज़ का मनपसंद व्यायाम