क्या आप भी है चिंतित ठंड में वज़न बढ़ने से, अपनाएं यह 8 तरीके जो बढ़ने न दें वजन

385
Tips-to-Avoid-Winter-Weight-Gain-MainPhoto
image credits: Mamiverse

घटते तापमान, छोटे होते दिन और डिब्बों में भरे त्योहारों पर बने स्वादिष्ट व्यंजन सर्दियों को वजन बढ़ाने का मौसम बनाने के पुरे इंतेज़ाम कर देते हैं। (how to avoid weight gain in winter) इन दिनों वजन नियंत्रित रखने के प्रति संकल्पित लोग भी डगमगा जाते हैं। इसका खामियाजा कुछ ही हफ्तों में दिखने लगता है जब हमारे सबसे पसंदीदा कपड़ों को ही हम आत्मविश्वास के साथ नहीं पहन पाते।

 

अच्छी सेहत और परफेक्ट फिटनेस चाहते हैं तो इन सर्द दिनों से बिल्कुल हार न मानें। इन 8 तरीकों का पालन करें और अपने वजन को नियन्त्रण में करें-

 

फिटनेस को प्राथमिकता बनाएँ-

वर्कआउट तथा एक फिटनेस योजना आपको पुरे साल अपनाना चाहिए और ठंड में इसे प्रमुख प्राथमिकता बना लेना चाहिए। व्यायाम आपको सिर्फ वजन नियंत्रित करने में ही मदद नहीं करेंगे बल्कि शरीर में रक्तप्रवाह सुचारू बनाएँगे तथा एंडोर्फिन का स्त्राव कर आपको खुश महसूस करवाएँगे। ठंड में होने वाले तनाव और उदासी को भी इस तरह दूर रखा जा सकता है। समय और व्यवस्था हो तो इस मौसम में विंटर सपोर्ट (स्कीइंग, आइस स्केटिंग आदि) को अपनाकर व्यायाम को रोचक बनाया जा सकता है। इस समय आप अपने परिवार के साथ कई तरह की गतिविधियाँ योजित कर सकते हैं जिससे आपकी फिटनेस के साथ सामाजिक जीवन भी सुधरेगा।

 

खाने के नियम यथार्थवादी बनाएँ-

हो सकता है आप सोच रहें हों की त्यौहार के मौसम में ही मन भर कर खा लें तथा फिर एक दम से डाइटिंग शुरू कर देंगे। ये वास्तव में करना बहुत कठिन है और अगर आपको कई और काम भी करने हैं तो खुद को इस कठिनाई से गुज़ारना ज्याद्द्ती होगी। इससे बेहतर है की तेल और मसाले वाले आहार की मात्रा कम करें तथा इनके साथ फ़ल और सब्जियों को भी लें। इसके अलावा खाना खाते हुए सचेत रहना भी ज़रूरी है। टीवी और मोबाइल से हटाकर खाने में मन लगाना तथा अच्छी तरह चबा कर खाने भर से आप आधी लड़ाई जीत सकते हैं।

 

मन को भाने वाला खाना आपको कपड़ों में असहज न कर दे-

पनीर, घी, मलाइदार आहार या ताज़ा बना चटपटा खाना बेशक टाइम-पास करने,शरीर को गर्म करने और ठंड के कठिन दिनों को आसान बनाने के लिए असरदार है। आपको आराम का एहसास दिलाते ये आहार दरअसल आपकी कमर का नाप बढ़ा रहे हैं।

खुद को इन व्यंजनों से दूर कर असहज हो जाने से पहले थोडा रुककर सोचें-आपको बार-बार खाने की ज़रूरत क्यूँ पड रही है? क्या आपको ठंड लग रही है? अगर ऐसा है तो कम कैलोरी युक्त चाय या ग्रीन टी लें या फिर मोटे गर्म कम्बल में आराम करें। अगर आपको मौसम अकेलेपन का एहसास करवा रहा है तो किसी दोस्त को फ़ोन करें या अपने घर के रुके काम ही कर लें। खाने की ज़रूरत की सही वजह स्पष्ट होने से आप कई अतिरिक्त कैलोरिज़ से बच सकते हैं।

इसके बाद भी कुछ खाने का मन करे तो अपनी प्लेट में थोड़ी मात्रा में आहार लें और इसे धीरे-धीरे खाएँ।

 

ध्यान दें की आप क्या पी रहे हैं-

हममे से कई लोग इस मौसम में गरिष्ठ सूप, हॉट चोकलेट या अन्य कैलोरिज़ से भरे पेय को बिना सोचे पीने लगते हैं। पर बाहर से खरीदी कॉफ़ी को स्वादिष्ट बनाने में क्रीम का उपयोग हो सकता है जो आपको दिनभर में 500 कैलोरिज़ का तोहफा दे सकती है। तो इनके बारे में जानकारी लेने से शुरुआत करें तथा इनकी मात्रा को आज से ही घटा दें।

 

मेलजोल में खाने पर भी ध्यान दें-

सामाजिक मेलमिलाप में हम अक्सर गरिष्ठ और बहुत सारा आहार लेने लगते हैं। दोस्तों के साथ बैठकर मूवी देखते हुए लगातार खाते रहना या किसी परिचित के घर जाने पर चाय और नाश्ता करना पहली नजर में घातक नहीं लगता। पर अगर आप अक्सर ऐसे मेल-मिलापों का हिस्सा बनते हैं तो आपका वजन बढने का मुख्य कारण यही हो सकते हैं।

साथ खाना या मेहमान की आवभगत करना जुड़ने का अच्छा मौका होता है इसलिए इसे चुकें नहीं। पर खाते हुए अपने लक्ष्य को हमेशा मन में रखें तथा थोड़ी-थोड़ी मात्रा में ही भोजन लें। इसके बाद घर पहुँचने पर अपने आहार में कुछ कैलोरी घटाने की कोशिश करें ताकि वजन संतुलित रखा जा सके।

 

बोरियत में खाना बंद  कर दें-

कई लोग ठंड में घर में अक्सर बोरियत महसूस करने लगते हैं। टीवी देखना, फ़ोन चलाना जैसी असक्रिय गतिविधियों को अपनाने के साथ स्नैक्स खाना भी बोरियत दूर करने का तरीका हो जाता है। चिंता, उदासी या बोरियत में इन बिना पोषण की कैलोरिज़ को अपने शरीर में जाने रोकें।

इसकी जगह परिवार के पुराने एल्बम निकालकर यादें ताज़ा करें, ऊन की बुनाई या अन्य हस्तशिल्प कलाओं को सीखने की कोशिश करें या घर में एक कोना बनाएँ जहाँ आप स्वयं को प्रेरणा देने वाले चित्र या विचार लिख सकें।

 

सर्दी को फिटनेस की राह में न आने दें-

कड़ाके में ठंड में अगर सर्दी से नाक बंद हो जाए और सिर भारी लगने लगे तो हम वर्कआउट न कर मनपसंद व्यंजन खाने की सोचने लगते हैं। पर इस समय खुद को याद दिलाएं – सर्दी सिर्फ 7 दिन रहेगी पर मोटापा महीनों तक परेशान करेगा।

इसलिए खुद को सर्दी और संक्रमण से बचाने का पूरा प्रयत्न करें तथा हल्के-फुल्के व्यायामों के साथ शरीर को रक्तप्रवाह को तेज़ बनाए रखें।

 

शरीर के संकेतों के प्रति सम्वेदनशील रहें-

ठंड में शरीर में कई बदलाव होने लगते हैं और आप अक्सर असमय भूख और प्यास महसूस करते हैं। व्यस्तता और बदलाव के इस दौर में हम सब कुछ करने की कोशिश करते हैं और अपने ही शरीर के संकेतों को नज़रंदाज़ करने लगते हैं। इस बार सर्दियों में शरीर के संकेतों पर ध्यान देने की कोशिश करें।

हफ्ते या दो हफ्ते में एक बार अपना वजन ज़रूर जांचें। इसी के अनुरूप अपनी दिनचर्या तय करें। इसके अलावा कपड़ों की फिटिंग में आए बदलावों पर भी पैनी नजर रखें। स्वेटर में खुद को छुपाकर निश्चिंत होना आपकी समस्या का हल नहीं है। इस मौसम में अगर अतिरिक्त तनाव महसूस कर रहे हैं तो ध्यान, सैर तथा अन्य तरीकों से इससे निपटने की कोशिश करें तथा खुश रहें।