क्या आप भूख लगने पर क्रोधित महसूस करते हैं?

165
angry-when-hungry
image credits: NaturalON

“भूख लगने पर आप आप नहीं होते” आपने शायद एनर्जी बार के विज्ञापन देखे होंगे जिनकी टैगलाइन यह होती है। इन विज्ञापनों के किरदार की तरह आप भूख लगने पर कोई और अवतार धारण भले ही न करें, पर आपमें चिडचिडेपन और गुस्सेल प्रवृत्ति ज़रूर आ जाती है। (how to stop getting angry, grumpy when while hungry, bhookh lagne per gussa aana)

 

हाल में हुए कुछ शोधों में सामने आया की ऐसे बदलाव के लिए आपके रक्त में शक्कर की मात्रा ज़िम्मेदार है। देखा गया की अगर व्यक्ति के रक्त में ग्लूकोस का स्तर कम है तो उनके गुस्सा व्यक्त करने की संभावना ज्यादा होती है।

 

इस स्थिति से उबरने के लिए आप कुछ उपाय कर सकते हैं-

 

बचाव को सबसे ज्यादा महत्व दें। हर कुछ घंटों में खाने से आप भूख को भी दूर रख सकते हैं तथा शरीर को स्वस्थ भी रख सकते हैं। इस दौरान अपने लिए हेल्थी स्नैक्स चुनकर भी आप भावनाओं में आ रहे उतर चढ़ाव को मात दे सकते हैं। घर से निकलने से पहले खाने का इन्तेजाम ज़रूर रखें।

 

सब्जी और फल लें। देखा जाता है की दिनभर में सब्जी और फल की 3-8 खुराक खाने पर अगले दिन से ही व्यक्ति खुश, शांत और उर्जावान महसूस करने लगता है। ज़ाहिर है, भूख लगने पर सिर्फ पेट भरना ही नहीं, बल्कि भरपूर पोषण लेना भी ज़रूरी है।

 

अपने शरीर की सुनें। कई बार भूख कुछ देर के लिए उठती है फिर शांत हो जाती है और आपको सहज महसूस होने लगता है। लेकिन फिर धीरे-धीरे आप बेचैनी, गुस्सा और कमजोरी जैसे लक्षण महसूस करने लगते हैं। अगर आपको ये लक्षण महसूस हो रहे हैं तो अपने शरीर की सुनना शुरू करें। खाने के लिए कुछ समय निकालें और चोकलेट या बर्गर की जगह कुछ हितकारी भोजन ढूंढें।

 

नींद लें। अगर आप गहरी और भरपूर नींद नहीं ले रहे हैं तो भूख से जुड़े हॉर्मोन में बदलाव आ सकता है। ऐसा होने पर अगले दिन आप ज्यादा भूख और असहजता महसूस कर सकते हैं। यह प्रभाव सिर्फ एक रात नींद की कमी से आ सकते हैं। रोजाना तय समय पर सोएं और गहरी नींद के पुरे इन्तेजाम रखें।

 

डाइटिंग से नाता तोड़ें। डाइटिंग आपको भूखा रखने की तैयारी का नाम है। कई तरह के डेटोक्स प्रोग्राम या आहार योजना इन्तेजाम करते हैं की आपका शरीर सामान्य प्रक्रिया से पूरी तरह हट जाए और सिर्फ वसा पर जीना शुरू करे। यह बेहद नुकसानदायक तरीका है जिनके दुष्प्रभाव को कभी न नकारें।

 

खाते हुए ध्यान दें। टीवी और फ़ोन को बंद करें, खाने को सही तरीके से परोसें तथा पुरे ध्यान से खाना खाना शुरू कर दें। आप पाएँगे की यह तरीका डाइटिंग से कई गुना ज्यादा असरदार है और आपको संतुष्टि भी देता है।