iSlim: मोटापे को कम करने की सबसे बेहतरीन और लाभदायक औषधि

1057
islim indus viva benefits

भारत में ऐसी कई बीमारियाँ है जिनका इलाज संभव नहीं है और यदि है तो लोगों को इनकी जानकारी नहीं है। आजकल लोग आधुनिक दवाइयों का उपयोग अधिक करते है लेकिन फिर भी कोई बेहतरीन असर नहीं दिखता है।

आज हम आप लोगों को आयुर्वेद की एक ऐसी औषधि के बारे में बताने जा रहे है जो ना ही आज-कल की आधुनिक दवाइयों के मुकाबले बेहतर है बल्कि जिसका उपयोग आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा और लाभदायक साबित होगा। उस औषधि का नाम है- iSlim (Indus Viva iSlim for Fat Loss)

 

आज-कल के लोगों की सबसे बड़ी परेशानी है वजन का बढ़ना। लोग वजन तो आसानी से बढ़ा लेते है लेकिन आसानी से घटा नहीं पाते। कुछ लोग शरीर के मेटबॉलिज़म की वजह से मोटापे के शिकार हो जाते है तो कुछ लोग कई बीमारियों की वजह से। कारण कुछ भी हो, मोटापे के कारण लोगों को समाज में वह सम्मान नहीं मिल पाता जिनके वे हक़दार होते है। उदाहरण के लिए आप नौकरी की भर्ती में ही देख लीजिए। पतले और कम अनुभववाले लोगों को, अनुभवी किंतु मोटापे से ग्रस्त व्यक्ति की तुलना में आसानी से नौकरी मिल जाती है।

 

मोटापे के कारण लोगों को समाज में तीखी प्रतिक्रियाओं का सामना करना पड़ता है। केवल यही नहीं, मोटापे के कारण लोग अन्य खतरनाक बीमारियों जैसे कि डायबिटीस, पित्त की पथरी, हृदय से सम्बंधित बिमारी, नींद न आने की बीमारी, बाँझपन, हॉर्मोन्स में गड़बड़ी इत्यादि के भी शिकार हो जाते है।

 

लोगों की इसी परेशानी को दूर करने की सबसे बेहतरीन औषधि अब भारत में उपलब्ध है जिसका नाम है- iSlim। इसका नाम ही दर्शाता है- वजन घटाने की औषधि। यह FB3 fusion फार्मूला से बनी है और US में Patented है, Patent Number: 9,278,117 B2

 

इ-स्लिम में समाविष्ट घटक (iSlim Composition):

1. सलासिया रेटिकुलाटा (Salacia Reticulata)- जो डायबिटीस को रोकता है।

2.पत्थरचूर (Patharchur)- जो वजन को कम करता है।

3. तिल (Sesame)- जो कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

4. आम और धनिया- जो एंटी-ऑक्सीडेंट की तरह काम करते है।

5. जीरा और काली मिर्च- जो पाचन क्रिया में मदद करते है।

6. चब (Java Long Pepper)- जठरांत्र के सही कार्य करने में सहयोग देता है।

 

एक आम भाषा लेकिन वैज्ञानिक तरीके से कहे तो iSlim पैंक्रियाटिक लाइपेस नामक एंजाइम के कार्य में बाधा उत्पन्न कर वजन घटाने में मदद करता है। इसमें समाविष्ट घटक शरीर द्वारा अत्यधिक और अनचाहे-ख़राब वसा के अवशोषण को रोकते है और साथ ही अन्य वसा के अवशोषण के अवरोधक द्वारा पाचन क्रियाओं से संबंधित नकारात्मक प्रभावों को रोकने में भी मदद करते हैं।

 

इ-स्लिम को लेने की विधि और मात्रा-

-30 ग्राम (एक पैकेट) इ-स्लिम को एक कप थोड़े गरम पानी में डालकर अच्छे से मिलाकर पिए।

-दिन में एक बार सुबह नाश्ते के वक़्त लें।

-इस औषधि का जब तक इस्तेमाल करें तब तक सुबह का नाश्ता ना करें।

-एक महीने तक अवश्य इसका प्रयोग करें। बेहतरीन परिणाम के लिए 3 महीने तक इसका प्रयोग करें।

-मध्यम से औसत शारीरिक व्यायाम भी करते रहे- एक दिन में 20 मिनट लगभग।

– यदि आप अपने खान-पान और शारीरिक व्यायाम पर ध्यान देंगे तो इस दवाई के कोर्स के पूरा होने के बाद आप फिर से मोटापे के शिकार नहीं होंगे।

-जितना आप भोजन करें उतनी ही मात्रा में शारीरिक कार्य भी करें।

 

iSlim औषधि ‘Indus Viva’ नामक कंपनी द्वारा बनाई गई है जो स्वास्थ्य और कल्याण से सम्बंधित कंपनी है। इस कंपनी की स्थापना 2007 में एक भारतीय मूल के व्यवसायी द्वारा की गई थी। यह कंपनी जापान की सबसे प्रमुख पौष्टिक-औषिधिकीय कंपनी है। यह भारत में हर साल 500 मीट्रिक टन से भी अधिक दवाइयों का उत्पादन करती है। अनुसंधान और विकास के मामले में भी दुनिया में इसने ऊँचा स्तर बना रखा है।

 

Buy from a National Level Distributor only:अगर आप इस iSlim प्रोडक्ट के बारे में और जानकारी लेना चाहते हैं तो Call/WhatsApp करें 9582003439 पर।