जानिए शरीर में सूजन के कारणों को और करें यह 6 घरेलू उपचार

103938
sujan-ka-ilaaj
image credits: ayurvedplus.blogspot.com

शरीर में सूजन आना यह एक साधारण सी समस्या है। (sujan ke kaaran, gharelu upchaar, swelling in face, feet) कभी कभी यह सूजन किसी अंदरूनी घाव के कारण अथवा शारीरिक अंग में होने वाले दर्द के कारण भी होती है। सूजन को मेडिकल चिकित्सीय भाषा में एडेमा कहा जाता है। कई बार यह सूजन कुछ समय बाद अपने आप ठीक भी हो जाती है। पर कई बार यह सूजन बडी ही गंभीर रूप से कई कई दिनों तक रहती है। ऐसी परिस्थिति आने पर सूजन पर चिकित्सा करना आवश्यक हो जाती है। यह सूजन हमारे शरीर के विभिन्न अंगों में चेहरा, हथेली, हाथ, पैर, पैरों के पंजो इनमें से कही भी पाई जा सकती है।

सूजन पाये जाने के कई मुख्य कारण है।

1) शरीर के किसी भी अंग में संक्रमण होना।

2) किडनी या लीवर का कमजोर होना।

3) शरीर में जरूरत से ज्यादा मात्रा में पानी का इकठ्ठा होना।

रक्त संबंधी विकारों को दूर करने के लिए ईलाज – कप्पिंग थेरेपी

4) अधिक देर तक एक ही स्थान पर खडे रहना।

5) नमकीन पदार्थों का अत्याधिक सेवन करना।

6) असंतुलित आहार का सेवन।

7) किसी भी कीड़े के काटने से।

8) गर्भावस्था (स्त्रियों में अक्सर गर्भावस्था के दौरान शरीर में सूजन पाई जाती है )

इस लेख में हम बात करेंगे उन आसान घरेलू उपायों के बारे में जिन्हें अपनाकर आप सूजन की समस्या से मुक्त हो सकते है।

1) शरीर में आई हुई सूजन को दूर करने का सबसे आसान तथा सर्वश्रेष्ठ उपाय है, अधिक मात्रा में पानी पीना। आपके शरीर का सही रूप से जलीकरण होने के लिए प्रतिदिन कम से कम 8 से 10 गिलास पानी पीना अति आवश्यक है। क्योंकि पानी अधिक मात्रा में पीने से आपका शरीर युवा होने लगता है। तथा शरीर में ऑक्सीजन तथा रक्त की भी अधिक मात्रा में आपूर्ति होने लगती है। हमारे शरीर को ज्यादा पानी पीने की वजह से एक प्राकृतिक रूप से चिकित्सा प्राप्त होती है। तथा सूजन कम करने में लाभ मिलता है।

2) यदि आपके शरीर में सूजन किसी चोट लगने की वजह से हुई है, तो सूजन को कम करने का सबसे उत्तम उपाय है, कि आप चोट लगी हुई प्रभावित क्षेत्र को आराम से पलंग पर लेटकर 2 या 3 तकियों का सहारा दें। जहाँ पर आपको चोट लगी है, वह हिस्सा थोडी ऊँचाई पर रहने से सूजन तथा दर्द में राहत प्राप्त होती है। ऐसा करने से चोट लगे हुए प्रभावित क्षेत्र में से अतिरिक्त द्रव्य पदार्थ भी बाहर निकल जाते है।

3) शरीर की सूजन को कम करने के लिए उस पर बर्फ अथवा गरम पानी से सेक करने से सूजन तथा दर्द कम होने लगता है। पर इसके लिए सूजन का कारण जानना बहुत ही जरूरी होता है। यदि आपको सूजन किसी भी एलर्जी की वजह से है, तो प्रभावित क्षेत्र बर्फ लगाना उचित होता है। ऐसा करने से शारीरिक त्वचा पर ठंडक पहुँचने लगती है, तथा सूजन तुरंत ही कम होने लगती है। पर यदि आपको कोई खेल खेलते वक्त चोट लगती है, तो ऐसी स्थिती में गरम पानी से सेंकना ही बेहतर होता है। आप गरम पानी को किसी भी काँच की बोतल में भरकर उस बौतल को तौलिये में लपेटिये तथा जहाँ पर सूजन है, वहाँ लगाकर कुछ देर तक सेंकिए। यह चिकित्सा करने से न केवल आपकी सूजन कम होगी। बल्कि आपको दर्द में भी राहत महसूस होगी।

 

इसे भी पढ़ें – जानिए कैसे पा सकते है ठंड की आम परेशानी कॉर्न्स से छुटकारा

 

4) यदि आपके हाथों तथा पैरों में सूजन है, तो उसके लिए नमक बहुत ही उपयोगी साबित होता है। जी हाँ, आप एक बडे बर्तन में गुनगुना गर्म पानी लेकर उसमें दो बडे चम्मच नमक डालिए। तथा इस पानी में अपने हाथों अथवा पैरों को लगभग 15 से 20 मिनट तक भिगोकर रखिये। नमक वाले पानी से सूजन को कम होने में काफी लाभ पहुँचता है।

5) शारीरिक सूजन को कम करने के लिए हाथों तथा पैरों की हलचल करने से भी काफी फायदा पहुँचता है। हल्का हल्का व्यायाम करने से अथवा थोडी दूरी पर चलने से हाथ तथा पैरों की सूजन कम होकर दर्द में भी आराम पहुँचता है। शरीर में अत्याधिक द्रव्य पदार्थों को बाहर निकालने के लिए नमक वाला पानी एक बहुत ही प्रभावशाली उपाय साबित होता है।

6) शरीर में सूजन होने का एक मुख्य कारण है, नमक का अत्यधिक सेवन करना। अपने भोजन में नमक कि मात्रा को नियंत्रित रखिए। नमक में सोडियम पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। तैयार किये हुए मिलन वाले खाद्यपदार्थों में तथा चीज में सोडियम अधिक पाये जाने कि वजह से यह चीजें आपके शरीर के लिए विषैली साबित हो सकती है। तथा सूजन बढने की संभावना भी रहती है।

 

इसे भी पढ़ें – 

  1. ठंड का मौसम – क्या खांसी और बलगम ने आपको भी किया है परेशान
  2. ठंड के मौसम की आम बीमारियों के लिए करें इस पिप्पली (Long Pepper) चक्र का पालन
  3. ठंड के मौसम में गोंद है स्वास्थ्यवर्धक गुणों से परिपूर्ण